फिल्म के बदले इस हिरोइन से प्रोड्यूसर बोला, ‘हम पांच लोग हैं, तुम्हें सबके साथ सोना है’ और फिर

ये फिल्मी दुनिया का ग्लैमर शोहरत विवाद और ब्रेकअप के लिए काफी मशहुर है, लेकिन इसका सबसे गंदा सच कास्टिंग कॉउच है। बड़ी बड़ी बातें करने वाले, अपनी फ़िल्मों में ऊँचे नैतिक मूल्यों की बात करने वाले लोग कितने घिनोने हैं उसका सच बार बार सामने आ ही जाता है, मक़सद एक ही है हर कोई नारी के जिस्म को नोच नोचकर खाना चाहता है और बहुत सी लड़कियाँ फ़िल्में पाने के लिए ऐसा करने में कोई बुराई नहीं समझती, हालाँकि कुछ विरोध भी करती हैं पर बड़े बड़े लोगों का इस प्रकार क़ब्ज़ा है कि विरोध कहीं भी नहीं टिक पाता।

लड़कियों और नयी एक्ट्रेस के जिस्म को इस्तेमाल करने और नोचने का लालच लगभग हर तीसरे पुरुष के मन में समाया हुआ है बॉलीवुड या टीवी की दुनिया का वो हिस्सा है, जिसपर हमेशा से बवाल होता रहा है। कहा जाता है कि बॉलीवुड की दुनिया बाहर से जितनी रंगीन दिखती है अंदर से उतनी ही बदरंग है। बॉलीवुड की दुनिया बाहर से भले ही कितनी भी खूबसूरत हो लेकिन इसके अंदर की दुनिया में जिस्मों के खेल को सभी जानते हैं और इसके किस्से भी कभी न कभी सुनने को मिलते रहे हैं। इस काली दुनिया के राज कई अभिनेताओं और अभिनेत्रियों ने खोले हैं। इसी कड़ी में अब एक नया नाम जुड़ गया है, जिसका नाम है साउथ फिल्म एक्ट्रेस श्रुति हरिहरन।

वैसे तो फिल्म इंडस्ट्री में कास्टिंग काउच को लेकर अब तक कई एक्ट्रेस और एक्टर ने आवाज उठाई है। लेकिन, साउथ फिल्म एक्ट्रेस श्रुति हरिहरन ने एक शो के दौरान इस दुनिया का जो राज खोला वो सभी को हिला कर रख देने वाला है। साउथ फिल्म एक्ट्रेस श्रुति हरिहरन ने बताया कि उन्हें एक प्रोड्यूसर ने 4 अन्य प्रोड्यूसर के साथ ‘सोने’ के लिए कहा था। इस बदसूरत दुनिया के राज खोलते हुए श्रुति ने बताया कि जब उन्होंने ऐसा करने से इंकार किया तो उसके बाद उन्हें फिल्म इंडस्ट्री में अच्छी फिल्में मिलना बंद हो गई।

श्रुति के साथ यह घटना तब हुई जब उनकी उम्र महज 18 साल थी। श्रुति के मुताबिक, वो अपनी पहली कन्नड़ फिल्म के लिए एक मीटिंग करने गई थीं, जहां उनसे एक प्रोड्यूसर ने 4 अन्य प्रोड्यूसर के साथ ‘सोने’ के लिए कहा। इतना सुनकर वो रोने लगी और बाहर आकर अपने कोरियोग्राफर से सारी बातें बताई। उनकी बातें सुनकर कोरियोग्राफर ने कहा कि, “अगर तुम इस चीज़ को हैंडल नहीं कर सकती, तो अभी ये काम छोड़ दो।” श्रुति ने उस फिल्म को करने से इंकार कर दिया था। कन्नड़ अभिनेत्री श्रुति हरिहरन ने इस बात का खुलासा हैदराबाद में चल रहे इंडिया टुडे कॉन्क्लेव के ‘सिनेमा में सेक्सिज्म’ सेशन में बोलते हुए किया। श्रुति ने फिल्मी दुनिया के काले सच कास्टिंग काउच पर खुलकर बोलते हुए कहा कि, ‘फिल्मों में लड़कियों को सिर्फ सुन्दर, सेक्सी लगने और फिल्म चलाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।’ बता दें कि यह कोई पहला मौका नहीं है जब किसी ने इस काली दुनिया के राज खोले हैं। इससे पहले भी कई अभिनेता और अभिनेत्री अपने साथ हुए कॉस्टिंग कॉउच के किस्से शेयर कर चुके हैं। कुछ हिरोइनों ने जहां कास्टिंग कॉउच से समझौता करके सफलता का स्वाद चखा तो वहीं कुछ ने अपनी प्रतिभा पर विश्वास रखते हुए इनकार कर दिया। हाल ही में #metoo कैंपेन के जरिए भी हजारों औरतों ने अपने साथ हुई घटनाओं का खुलासा किया है। सच बहुत कड़वा होता है और असल में वही कड़वापन समाज में घट रहा होता है पर ऊपर से दिखाने के लिए हर जगह बड़ी बड़ी बातें तो की ही जाती हैं क्यूँकि दिखावा ही तो हमारी हक़ीक़त बन गया है, हम वो नहीं है जो हम ख़ुद को दिखाते हैं, हमारी ख़बरें सबसे पहले पाने के लिए हमारा पेज ज़रूर लाइक करें  ।

Source :-http://hindutva.info/film-ke-badle-men/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *