17 साल की उमर में मां-बाप ने करदी थी शादी, तलाक लेकर सरकारी नौकरी की तयारी कर बनी DSP, क्लिक करके जाने पूरी कहानी:

हमरा देश वीरा का देश है। यह बहुत से वीर जन्मे और बहुत से संघर्षकारी भी। भारत के हर शहर हर गली में हर इंसान एक महान संघर्ष से अपनी जिंदगी में एक न एक बार जरूर झूंजता है। जिस तरह भारत के वीर नौजवान किसी भी चीज में पीछे नहीं रहते उसी तरह अब वक्त आगया है की भारत वीर और संघर्षकरी नारिया भी पीछे नहीं है।

भारत की बेटीया भी हर चीज आगे निकलती जा रही है। कोई डॉक्टर बन रही है, कोई हवाई जहाज उड़ा रही तो कोई सीमा पर देश की रक्षा करने में भी पीछे नहीं है। इसी तरह आज हम आपको भारत की बेटी जो जो अपनी जिंदगी की मुश्किलों से जूझने के बाद भी एक छोटे गांव से निकलकर पुलिस बल की डी.एस.पी. बनी।

अनीता, बहुत ही साधारण और संघरकरी लड़की है। आर्थिक तंगी के कारण अनीता की शादी 17 साल की चोटी उमर में ही एक 27 साल के लड़के के साथ कर दी गई थी। लेकिन अनीता को जिंदगी में आगे बढ़ना था। इसलिए अनीता ने अपने पति से तलाक लेलिया। क्युकी वह घर के झगड़ो से तंग थी और उसे जिंदगी में आगे बढ़ना था।

रीति रिवाज के चलते घर वालो ने अनीता की शादी तो कर दी लेकिन अनीता ने पढ़ाई नहीं छोड़ी और अपनी ग्रेजुएशन कंप्लीट करी। सरकारी नोकरी तयारी शुरू करने बाद अनीता ने बैंक की परीक्षा जिसमे वह पास तो लेकिन वह जा नही पाई। पर किस्मत मेहनत करने वालो के रास्ते में भटकती भी नही है।

फिर उनके पति का एक्सीडेंट होगया था जिस कारण उनको घर संभालना पड़ा और एक ब्यूटी पार्लर में काम करके घर की रोटी पानी चलानी पड़ी। फिर उन्होंने वन विभाग की परीक्षा दी जिसमे पास होने के बाद उनकी पोस्टिंग होगायी। पर उन्होंने तो कुछ और ही सोच रखा था। अनीता ने प्रशासनिक अधिकारी बनना का सपना देखते हुए मध्य प्रदेश प्रशासन का एग्जाम दिया और वह पास होगई और उनकी पोस्टिंग एस आई की पोस्ट पर होगयी।

अपने सुना ही होगा जिसने आगे बढ़ना होता है वो कभी रुकता नही है। इसी लिए अनीता ने आई ए एस की परीक्षा की भी तयारी करी और पास हो कर इस समय डी एस पी के रूप में इस समय कार्यरत्त है।