यह 5 मशहूर खाने की वस्तुएं भारत की नही बल्कि दूसरे देशों की है, जान के होजाएगे हैरान

दोस्तों भारत और चटपटा खाना इन दोनों को तो आप एक ही शब्द मान सकते हैं। जी हां मैं ऐसा इसलिए कह रहा हूं क्योंकि भारत एक ऐसा देश है जहां जगह जगह पर तरह-तरह की चीजें खाने को मिलती हैं। हर चीज अपने आप में ही बहुत ही स्वादिष्ट और बढ़िया होती है। भारत में मीठा और चटपटा दोनों ही तरह का खाना बहुत ही पसंद किया जाता है। पर भारत में लोग चटपटे खाने के ज्यादा फैन होते हैं। तो दोस्तों अब हम आपको बताते हैं कि भारत में ऐसे पांच कौन से फूड आइटम है जो बहुत मशहूर हैं लेकिन वह भारत के नहीं है।

समोसा
जी दोस्तों बिल्कुल सही पढ़ा आपने समोसा भारत का नहीं बल्कि यह तो प्राचीन काल में पूर्वी एशिया यानी कि ईरान इराक से आए थे। वहां पर इसका नाम संबिसाग हुआ करता था। संबिसाग असल तौर पर नॉनवेज हुआ करते थे।

गुलाब जामुन
गुलाब जामुन भी दोस्तों बदकिस्मती से भारत का नहीं है। इतिहास में गुलाब जामुन भी पर्शिया यानी इरान से आया था। इसे व्यापारी द्वारा यहां लाया गया था। इसे पहले आटे को छानकर कल आ जाता था और उसे फिर शहद से निकाला जाता था। धीरे-धीरे इसमें बदलाव आया और यह आज की तरह बनने लगा था।

जलेबी
दोस्तों यह बहुत हैरान करने वाली बात होगी की जलेबी भी मूल रूप से भारत की नहीं है। जलेबी को भी मध्य पूर्वी एशिया यानी गल्फ कंट्रीज चलाया गया था। दुनिया में अलग अलग तरह से जलेबी को बनाया जाता है। पर भारत में आकर स्कोर वह गोलमोल भूल भुलैया जैसी जलेबी जो आजकल आप देखते हैं वैसा रूप दे दिया था।

इडली
साउथ इंडिया की सबसे मशहूर पकवानों में से एक इडली भी मूल रूप से भारत की नहीं है। शायद आप सब को यह जानकर हैरानी होगी होगी कि यह भी बाहर के दूसरे देश से आई है। दरअसल इडली इतिहास काल में इंडोनेशिया से भारत आई थी। व्यापारियों द्वारा इस पकवान को भारत लाया गया था।

चाय
अब तो शायद दोस्तों आपके पैरों तले जमीन खिसक गई होगी। पर यह बिल्कुल सत्य है। भारत में पानी के बाद सबसे ज्यादा पिए जाने वाली वस्तु चाय ही है। परंतु मूल रूप सही है भारत में नहीं उत्पन्न हुई थी। दरअसल चाय की आविष्कार चीन में हुआ था। चीन में उस समय इसको दवाई के रूप में इस्तेमाल किया जाता था। लेकिन जब यह बारात आई तो हमने इसको अपने स्वाद और पसंद से बनाना शुरु कर दिया था।

तो दोस्तों इन खाने की वस्तुओं के बारे में सच्चाई जानकर आपको कैसा लगा यह कमेंट सेक्शन में हमें जरूर बताइएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *