जिसके हाथ लगा कोहिनूर ने उसे बर्बाद कर दिया, जानिए श्रापित हीरे की पूरी कहानी

दोस्तों, आपने अपने माता-पिता या दादा दादी के मुंह से कभी ना कभी कोहिनूर हीरे के बारे में तो जरूर सुना ही होगा। अगर नहीं भी सुना तो आपने बॉलीवुड की किसी भी फिल्म में जरूर इसके बारे में सुना होगा या इसको जरूर देखा होगा। स्कूल और सामान्य ज्ञान में तो इस हीरे के बारे में बताते भी हैं क्या शशइसके जितना बड़ा और सुंदर हीरा ना तो आज तक बन पाया है और ना ही शायद कभी बन पाएगा।

दोस्तों यह कोहिनूर हीरा कर्नाटक के गण टूर जिले के गोलकुंडा की खानों से मिला था। लेकिन इसके मिलने के साथ-साथ एक यह भी है बात कही गई थी कि यह हीरा जिसके पास भी होगा वह पूरी दुनिया पर राज करेगा लेकिन उसी के साथ साथ यह हीरा उसको बर्बाद भी कर देगा। यह सिर्फ देवी देवताओं और औरतों को ही छोड़ेगा। लेकिन इसकी सुंदरता को देखते हुए किसी ने भी इस बात पर कभी ध्यान ना दिया था। जिसके कारण इसने बड़े-बड़े राजवंशों को जड़ से उखाड़ दिया दिया। इसी हीरे के श्रापित होने के कारण बड़े से बड़े साम्राज्य बड़े से बड़े राजा मिट्टी में मिल गए थे। जी हां खिलजी साम्राज्य, तुगलक साम्राज्य, लोधी साम्राज्य, मराठा साम्राज्य, मुगल साम्राज्य और सिख साम्राज्य सभी के सभी मिट्टी में मिल गए।

दोस्तों एक समय हुआ करता था जब अंग्रेजों यानी ब्रिटेन का पूरी दुनिया पर राज हुआ करता था। अंग्रेज दुनिया के लगभग हर देश पर राज करते थे। अंग्रेजों ने कभी भी हार नहीं देखी थी इनका सूरज कभी नहीं डूबता था। फिर सिख साम्राज्य के एक राजा ने कोहिनूर हीरा अंग्रेजों को तोहफे में दिया था। वहीं से अंग्रेजों का बुरा समय शुरू हो गया था।

देखते ही देखते अंग्रेजों के हाथ से सब कुछ निकलने लग गया था। एक एक करके दुनिया मैं अंग्रेजों के अधीन सारे देश आजाद होने लग गए थे।तब जाकर अंग्रेजों को इसके साथ जुड़ी कहावत और शराब की वैल्यू पता लगी थी। फिर अंग्रेजों ने यह रूल बना दिया कि आज के बाद यह हीरा सिर्फ रानियों या औरतों द्वारा धारण किया जाएगा। वह दिन था और आज का दिन है तब से लेकर अब तक वह हीरा रानी एलिजाबेथ ही अपने ताज में धारण करती हैं।